हिन्दीसंपादित करें

प्रकाशितकोशों से अर्थसंपादित करें

शब्दसागरसंपादित करें

मधुमेह संज्ञा पुं॰ [सं॰] किसी प्रकार के प्रमेह का बढ़ा हुआ रूप जिसमें पेशाब बहुत अधिक और मधु का सा मीठा ओर गाढ़ा आता है । यह रोग प्रायः असाध्य माना जाता है ओर इससे प्रायः रोगी की मृत्यु हो जाती है । विशेष दे॰ 'प्रमेह' । माधव॰, पृ॰ १८९ ।