हिन्दीसंपादित करें

प्रकाशितकोशों से अर्थसंपादित करें

शब्दसागरसंपादित करें

इत्यादि अव्य॰ [सं॰] इसी प्रकार के अन्य । और । इसी तरह । और दुसरे । वगैरह । उ॰—बेटा हमारा धन, आभुषन, बसन इत्यादि सब बलात्कार हर ले गए' ।—भारतेंदु ग्रं॰, भा॰ १, पृ॰ ५०८ । विशेष—जहाँ किसी प्रसंग से समान संबंध रखनेवाली बहुत सी वस्तुओं को गिनाने की आवश्यकता होती है, वहाँ लाघव के लिये केवल दो तीन वस्तुओं को गिनाकर 'इत्यादि' लिख देते है जिससे और वस्तुओं का आसान मिल जाता है ।